close

Tech Computer News

Tech Computer News

Tech Computer News

Dell Latitude 7400 Laptop Launched In India – Dell ने अपना नया लैपटॉप Latitude 7400 किया लॉन्च, प्रॉक्सिमिटी सेंसर से है लैस

  • लैपटॉप Latitude 7400 लॉन्च
  • प्रॉक्सिमिटी सेंसर से है लैस
  • पॉवर बटन में फिंगरप्रिंट रीडर मौजूद

नई दिल्ली: डेल इंडिया ( Dell India ) ने 14 इंच का 2-इन-1 लैपटॉप लैटीट्यूड 7400 ( Laptop Latitude 7400 ) लॉन्च किया है और इसकी कीमत 1,35,000 रुपये से शुरू होती है। ये लैपटॉप प्रॉक्सीमिटी सेंसर के साथ आता है, जो इंटेल कॉनटेक्स्ट सेंसिंग प्रौद्योगिकी से लैस है। जब ये स्लीप मोड में होता है तो यूजर की उपस्थिति को भांप लेता है और सिस्टम को वेक मोड में ले आता है और फेसियल रिकॉगनिशन के लिए स्कैनिंग शुरू कर देता है, ताकि विंडोज हेलो में लॉग इन किया जा सके, जो कि सुरक्षित पहुंच सुनिश्चित करनेवाली बायोमीट्रिक आधारित प्रणाली है।

यह भी पढ़ें- इस महीने Infinix Hot 7 Pro होगा लॉन्च, 4,000mah बैटरी के साथ मिलेंगे बेहतरीन फीचर्स

जब भी यूजर लैपटॉप से दूर होता है तो लैपटॉप खुद ही लॉक हो जाता है, ताकि बैटरी लाइफ को बचायी जा सके और सुरक्षा सुनिश्चित हो सके। डेल इंडिया के क्लाइंट सोल्यूशंस समूह के वरिष्ठ निदेशक और महाप्रबंधक इंद्रजीत बेलगुंदी ने बताया कि ये डिवाइस हमारे लिए बहुत बड़ा विजेता साबित होगा। पॉवर बटन में फिंगरप्रिंट रीडर जैसी नवीन सुविधाओं के साथ यह वर्टिकल के उद्यमों के लिए उपयोगी हो सकता है। डेल इंडिया ने कहा कि लैपटॉप का ‘एक्सप्रेस कनेक्ट’ फीचर डिवाइस के उपलब्ध वाई-फाई में सबसे बेहतर तरीके से कनेक्ट करता है और पारंपरिक एंटीना की तुलना में तेज डाटा संरचना मुहैया कराता है।

यह भी पढ़ें- Airtel एयरटेल का बड़ा ऐलान, हर रोज यूजर्स को 400MB डाटा मिलेगा फ्री

डेल ने यह भी दावा किया कि ‘एक्सप्रेस चार्ज’ फीचर यूजर्स को एक घंटे में 80 फीसदी बैटरी चार्ज करने में सक्षम बनाता है। डेल इंडिया के ब्रांड निदेशक (क्लाइंट सोल्यूशन ग्रुप) विवेकानंद मंजरी ने कहा कि हम लैटीट्यूड 7400 2-इन-1 को लेकर अत्यधिक उत्साहित हैं, क्योंकि इसमें कुछ एक्सक्लूसिव ‘एक्सप्रेस’ फीचर्स हैं, जो हमारे उद्यम ग्राहकों को तेज और बाधारहित उत्पादकता का अनुभव करने में मदद करेगा।






Show More







Source by [author_name]

read more
Tech Computer News

Asus VivoBook 14and VivoBook 15 Launchced In India – वीडियो: Asus VivoBook 14 और VivoBook 15 भारत में लॉन्च, कीमत है बेहद कम

नई दिल्ली: Asus ने आज भारत में VivoBook Series के दो नए लैपटॉप लॉन्च किए हैं, जिसमें VivoBook 14 (एक्स412) और VivoBook 15 (एक्स512) शामिल है। इन दोनों वीवोबुक में फिंगरप्रिट सेंसर दिया गया है। इसके अलावा, इन दोनों लैपटॉप में आसुस ट्रू2लाइफ वीडियो टेक्नोलॉजी दिया गया है, जो हाई क्वालिटी का वीडियो देता है। कंपनी ने इस दोनों को चार कलर में पेश किया है जिसमें ऑवरेंज, व्हाइट, ब्लै और ब्लू कलर शामिल हैं। ये लैपटॉप 8वीं पीढ़ी के इंटेल कोर I7 प्रोसेसर के साथ NVIDIA जीफोर्स MX250 डिस्क्रीट ग्राफिक्स पर चलता है।

यह भी पढ़ें- दक्षिण अफ्रीका के कप्तान का बड़ा खुलासा, विश्व कप में खेलने के लिए डीविलियर्स ने मुझे किया था फोन

VivoBook 14 और 15 में डुअल-स्टोरेज डिजाइन है जिसमें 512GB SSD और 1TB HDD तक स्पेसिफाइड किया जा सकता है। इसके अलावा डुअल-बैंड WIFI5 (802.11एसी) कनेक्शन सहज वीडियो-स्ट्रीमिंग और सुचारू वेब-सर्फिंग के लिए 867MBPS हैं। दोनों ही वेरिएंट में ब्लूटूथ 4.2 है। वीवोबुक 14 का वजन 1.5 किलोग्राम और वीवोबुक 15 का पूरा वजन 1.6 किलोग्राम है। इन दोनों में कनेक्टिविटी के लिए यूएसबी 3.1 टाइप-ए, यूएसबी टाइप-सी (यूएसबी-सी), एचडीएमआई आउटपुट, हेडफोन और माइक्रोफोन के लिए एक ऑडियो कॉम्बो जैक और एक माइक्रो एसडी कार्ड रीडर समेत कई पोर्ट मौजूद हैं। लैपटॉप को ठंडा रने के लिए ब्लोअर स्टाइल के डिजाइन का इस्तेमाल किया गया है, जहां पंखा बाहर से हवा लेता है और इसे मदरबोर्ड कूलिंग सीपीयू और जीपीयू के आस-पास ले जाता है।

Source by [author_name]

read more
Tech Computer News

DGX-2 AI Supercomputer Is Now Available In India – खुशखबरी: अब भारत के पास भी है दुनिया का सबसे शक्तिशाली AI सुपरकंप्यूटर DGX-2, जानें क्या है ख़ास

  • DGX-2 को IIT जोधपुर में लगाया गया है
  • इस सुपरकंप्यूटर की कीमत 2.50 करोड़ रूपये है।
  • भारत में पहले से मौजूद है DGX-1 कंप्यूटर


 

नई दिल्ली: आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस ( AI ) में दुनियां का सबसे तेज सुपरकंप्यूटर DGX-2 को भारत में भी उपलब्ध करा दिया गया है। इस शक्तिशाली कंप्यूटर को जोधपुर स्थित भारतीय प्रौैधोगिकी संस्थान ( IIT ) में लगाया गया है। DGX-2 के जरिए देश में आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस की पढ़ाई करने में मदद मिलेगी। इसके लिए आईआईटी जोधपुर ने अमेरिकी सुपर कंप्यूटर कंपनी नविडिया ( Nvidia ) के साथ दो साल की साझेदारी की है।

यह भी पढ़ें: Cricket World Cup 2019 के दौरान मिल रहा Realme 3 Pro जीतने का मौका, ऐसे उठाएं फायदा

इस कंप्यूटर की ख़ास बात यह है कि इसमें 16 महत्वपूर्ण कार्ड लगे हैं जिनमें हर कार्ड की क्षमता 32 जीबी की है। साथ ही इसमें 512 जीबी का रैम दिया गया है। कंप्यूटर में लगे 32 जीबी क्षमता वाले प्रत्येक16 GPU कार्ड इसके काम को काफी ज्यादा बढ़ा देते हैं। इस सुपरकंप्यूटर की क्षमता 10 किलोवाट की है जबकि आम तौर पर दूसरे कंप्यूटर की क्षमता सिर्फ 150 से 200 वाट होती है। करीब डेढ़ क्विंटल वजन वाले इस कंप्यूटर की इंटर्नल स्टोरेज कैपेसिटी 30 टीबी की है। यह दुनिया का सबसे पावरफुल AI सिस्टम है।

यह भी पढ़ें: Flipkart Mobile Bonanza सेल शुरू, यहां जानें प्रीमियम से लेकर बजट रेंज स्मार्टफोन्स की डिस्काउंट कीमत

यह भी पढ़ें: 500 से भी कम लागत में घर बैठे बनाएं मिनी कूलर, इस तपती गर्मी में होगा ठंडक का एहसास

DGX-2 देश में पहले से मौजूद DGX-1 का अपग्रेड वर्जन है। मौजूदा समय में DGX-1 देश में IISC बेंगलुरू सहित कुछ संस्थानों में मौजूद है। अब DGX-2 के आ जाने से काम को तेजी की किया जा सकेगा। बता दें DGX-1 जिस काम को करने में 15 दिनों का समय लेता है, उसी काम को DGX-2 आधे दिन में पूरा कर देगा। DGX-2 की कीमत 2.50 करोड़ रूपये है।

यह भी पढ़ें: Mi LED स्मार्ट बल्ब की बिक्री शुरू, 11 साल तक नहीं होगा खराब, 1.6 करोड़ कलर को करेगा सपोर्ट






Show More









Source by [author_name]

read more
Tech Computer News

Flipkart Offer Up To 40 Percent Discount On Laptops – Flipkart LAPITUP: यहां लैपटॉप पर मिल रहा 40% तक का डिस्काउंट, जानें ऑफर्स

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन शॉपिंग साइट फ्लिपकार्ट ( Flipkart ) LAPITUP सेल के तहत लैपटॉप पर 40% तक का डिस्काउंट दे रही है। हालांकि इसकी जानकारी नहीं दी गई है कि लैपटॉप पर मिल रही यह छूट कब तक चलेगी। लेकिन अगर आप लैपटॉप खरीदने की सोच रहे हैं, तो यहां Acer , Dell , HP, Lenovo , Asus और Apple कंपनी के लैपटॉप को डिस्काउंट कीमत के साथ लिस्ट किया गया है। इसके अलावा ग्राहक डिवाइस की खरीदारी पर कई ऑफर्स का फायदा भी उठा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: अब आसानी से ट्रैक होगा चोरी हुआ स्मार्टफोन, सरकार अगस्त से शुरू कर रही मोबाइल ट्रैकिंग सिस्टम

यहां सबसे कम कीमत के साथ Acer Aspire 3 लैपटॉप को 17,990 रुपये पर खरीदा जा सकता है। इसके साथ मिल रहे ऑफर्स की बात करें तो अगर ग्राहक एक्सिस ( Axis ) बैंक के बज क्रेडिट कार्ड से भुगतान करते हैं तो उन्हें 5% का अतिरिक्त डिस्काउंट मिलेगा। इसके अलावा इस लैपटॉप पर 7,500 रुपये का एक्सचेंज ऑफर दिया जा रहा है। दूसरी तरफ HP के 14इंच लैपटॉप को 23,990 रुपये में खरीदा जा सकता है। इसपर भी 7,500 रुपये का एक्सचेंज ऑफर और एक्सिस बैंक के बज क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल पर 5% का अतिरिक्त डिस्काउंट मिलेगा।

यह भी पढ़ें: Jio GigaFiber का 50mbps वाला ब्रॉडबैंड प्लान कुछ चुनिंदा हिस्सों में हुआ उपलब्ध, मिल रही है ये सुविधा

Apple MaceBook Air i5 5th जेनरेशन के 8 जीबी रैम और 128 जीबी SSD को 67,990 रुपये में खरीदा जा सकता है। इसके अलावा HP के लेटेस्ट लैपटॉप Pavilion x360 i3 8th जेनरेशन लैपटॉप को 42,990 रुपये में लिस्ट किया गया है। अगर आप गेम खेलने के शौकीन हैं तो Acer Predator Helios i7 8th जेनरेशन लैपटॉप को 91,990 रुपये में खरीद सकते हैं। इन सभी लैपटॉप की खरीदारी पर ग्राहक 7,500 रुपये का एक्सचेंज ऑफर और एक्सिस बैंक के बज क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल पर 5% का अतिरिक्त डिस्काउंट पर सकते हैं।

Source by [author_name]

read more
Tech Computer News

Can You Catch Fake Videos? – क्या आप नकली वीडियो पकड़ सकते हैं?

डीपफेक को फेक न्यूज fake news का नया वर्जन कहा जा सकता है। इससे आप पहचान नहीं पाते हैं कि कौनसा वीडियो असली है।

‘डीपफेक’ वीडियो को पकड़ पाना काफी मुश्किल काम होता है
आजकल इंटरनेट मीम्स internet memes का दौर है। कॉमिक इफेक्ट देने के लिए अक्सर फोटोशॉपिंग इमेज photoshopping images काम में ली जाती है। अब इमेज में बदलाव का एक नया चलन देखने में आ रहा है। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआइ) टेक्नोलॉजी की मदद से असली वीडियो में भी तब्दील किया जा सकता है। इस तरह के ‘डीपफेक’ वीडियो को पकड़ पाना काफी मुश्किल काम होता है। इस तरह के वीडियो किसी इंसान की छवि को भारी नुकसान पहुंचा सकते हैं। ‘डीपफेक’ शब्द पहली बार वर्ष 2017 में चलन में आया था। यह टेक्नोलॉजी वीडियो और इमेज को घुमा सकती है, बांट सकती है और पैमाने बदल सकती है। इससे असली वीडियो को पहचानना मुश्किल हो जाता है और नकली वीडियो असली जैसा नजर आता है। ‘डीपफेक’ से सावधान रहने की आवश्यकता है।
कई खतरे पैदा हो सकते हैं
पूरी दुनिया में एआइ टेक्नोलॉजी सस्ती हो रही है और ज्यादा से ज्यादा लोग इसे अपना रहे हैं। डीपफैक को पहचान पाना मुश्किल काम होता है। इसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर से पूरी दुनिया में फैलाया जा सकता है। शोध बताते हैं कि दुनियाभर के युवा न्यूज के लिए भी सोशल मीडिया काम में लेते हैं। सोशल मीडिया कंपनियां डीपफेक को रोकने के लिए प्रयास नहीं कर रही हैं। आने वाले समय में इनकी बाढ़ आ सकती है। इनसे कई तरह के खतरे पैदा हो सकते हैं और सूचनाओं की गंभीरता खत्म हो सकती है। डीपफेक से निपटने के लिए सामूहिक प्रयास जरूरी हैं।
महिलाओं के सम्मान को ठेस
महिलाओं के सम्मान को डीपफेक से काफी नुकसान पहुंचाया जा रहा है। चालाक लोग महिलाओं के चेहरे का इस्तेमाल गलत वीडियो में करते हैं और उन्हें परेशान करने लगते हैं। सोशल मीडिया कंपनियों को डीपफेक पर रोक लगाने के लिए कठोर कदम उठाने चाहिए।
हाव-भाव से पकड़ सकते हैं
कई लोग और संस्थान मिलकर डीपफेक को पकडऩे के लिए एल्गोरिद्म विकसित करने की योजना बना रहे हैं। आप किसी वीडियो को बेहद सावधानी के साथ देखकर डीपफेक को पकड़ सकते हैं। वीडियो में चेहरे के हाव-भावों से भी डीपफेक की पहचान हो सकती है।
कुछ भी भरोसा करना है मुश्किल
कुछ दिनों पहले अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा एक वीडियो में मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को अपशब्द कह रहे हैं। इस वीडियो में बोलने वाला आदमी ओबामा नहीं है। उनके चेहरे को बड़ी सफाई के साथ बदल दिया गया। इसलिए अब इंटरनेट की दुनिया का वह दौर है, जब यहां कुछ भी भरोसा करना मुश्किल है।
हाई प्रोफाइल लोग हैं निशाना
हाई प्रोफाइल लोग जैसे राजनेताओं और सेलिब्रिटीज के हजारों फोटोज और वीडियोज इंटरनेट पर मौजूद हैं। ये डीपफेक का आसान टारगेट होते हैं। बहुत ज्यादा डाटा होने के कारण इन्हें आसानी से एक्सचेंज किया जा सकता है। आमतौर पर इन्हें कॉमेडी के लिए काम में लिया जा सकता है, पर भविष्य में इनसे हमारी सुरक्षा और लोकतंत्र को खतरा पैदा हो सकता है। इनसे लोगों को गुमराह किया जा सकता है।
कंटेंट शेयर की आदत काबू करें
अगर आपको कोई वीडियो गड़बड़ लग रहा है तो ऑनलाइन जगत में इसका दूसरा वर्जन खोजना चाहिए। इसके लिए आप गूगल इमेज सर्च की मदद ले सकते हैं। यूट्यूब डाटा व्यूअर आपको बता सकता है कि कोई वीडियो कब अपलोड किया गया। यह रिवर्स इमेज सर्चिंग के लिए थंबनेल उपलब्ध करवाता है। डीपफेक रोकने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप कंटेंट शेयर करने की अपनी आदत को काबू में रखें।
फेसबुक की कोशिश
हाल ही में फेसबुक के सह-संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने कहा कि वास्तविक लगने वाले फर्जी वीडियो को रोकने के लिए मूल्यांकन आवश्यक है। इनके संबंध में एक नीति का विकास करना जरूरी है। जुकरबर्ग के अनुसार ‘डीप फेक’ वीडियो बिल्कुल अलग कैटेगिरी के वीडियो हैं। इन्हें झूठी जानकारी देने वाले वीडियोज से अलग रखना चाहिए।







Source by [author_name]

read more
Tech Computer News

Lenovo Yoga S940 Launched In India Price Specifications Details – Lenovo Yoga S940 भारत में लॉन्च, जानिए कीमत व फीचर्स

नई दिल्ली: लेनोवो ने आज भारत में अपना नया लैपटॉप Lenovo Yoga S940 लॉन्च कर दिया है। लेनोवो योगा एस940 में इंटेल प्रोसेसर और फेस अनलॉक फीचर दिया गया है। ग्राहक इस लैपटॉप को कंपनी के ऑनलाइन स्टोर से खरीद सकते हैं। अगर कीमत की बात करें तो इसे 1,39,990 रुपये में ग्राहक खरीद सकते हैं। लैपटॉप को बिना ब्याज के ईएमआई के तहत खरीद सकते हैं। कंपनी की तरफ से इसकी फ्री डिलीवरी दी जा रही है। दोनों ही वेरिएंट में ग्राफिक्स के लिए इंटेल एचडी620 इंटीग्रेट है।

Lenovo Yoga S940 specifications

इसमें पतले बेजल के साथ फुल-एचडी (1,920 x 1,080 पिक्सल) डिस्प्ले है। इसके अलावा लैपटॉप में इंटेल कोर आई5-8265यू प्रोसेसर का इस्तेमाल किया गया है। इसमें 8 जीबी रैम और 256 जीबी PCIe NVMe एसएसडी स्टोरेज है। पावर के लिए 4-सेल 52Whr बैटरी है। कंपनी का दावा है कि एक बार फुल चार्ज होने के बाद लगातार 15 घंटे तक यूज कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें- कल Samsung Galaxy A80 पहली बार सेल के लिए होगा उपलब्ध, जानिए ऑफर्स

योगा एस940 के टॉप मॉडल में फुल-एचडी डिस्प्ले के साथ एंटी-ग्लेयर पैनल 4K (3,840 x 2,160 पिक्सल) के साथ है। इसमें इंटेल कोर आई7-8565यू प्रोसेसर का इस्तेमाल है और स्पीड के लिए 16 जीबी तक रैम दिया गया है। ये 1टीबी NVMe एसएसडी स्टोरेज के साथ है। अगर अन्य फीचर्स की बात करें तो लैपटॉप में फेस अनलॉक के लिए आईआर सेंसर और AI आधारित आई ट्रैकिंग फीचर दिया गया गया है।







Source by [author_name]

read more
Tech Computer News

Geek Review: Huawei FreeBuds Pro

The market for premium wireless earbuds with active noise cancelling (ANC) is growing ever so slightly. These days, more unlikely names have popped up alongside the pantheon of top performers; for every Sony, Bose, and (dare we say it) Apple, you have a Google or an LG that seems to punch above its weight every now and then, but there are a dozen more that end up as a gimmicky flop.

Huawei, however, is one of the oddballs in the market. While it has been around for a while now, with its FreeBuds line of wireless earbuds, it so far hasn’t quite broken away from the general consensus that it is a mere clone of the Apple AirPods. So when the Huawei FreeBuds Pro was first announced, one can imagine the laboured mental groans that might have rung across the community of AirPods fans.

Right from the get-go, there are several reasons why one can label the FreeBuds Pro as a test-tube sibling of the AirPods Pro. From the case, to the look of the earbuds themselves, to even the on-app controls (on a Huawei device, at least), there really isn’t much to separate the two, at least on paper. Probably the only major difference at first glance would be the FreeBuds Pro’s S$238 pricing, which is quite a far cry from the AirPods Pro’s S$379.

Advertisement ▼

Where the previous FreeBuds models were unabashed ripoffs of the AirPods, with strikingly similar designs, there are several design choices that make it stand out. Firstly, it comes in three colours instead of one (Ceramic White, Carbon Black, and Silver Frost on our review unit). Most strikingly, its antenna stems are small rectangular blocks instead of cylinders, which automatically gives the FreeBuds Pro a strangely refreshing look. Also, the option to use silicone eartips instead of full plastic ones is always a great choice for both comfort and hygiene, as it helps keep any earwax out of the actual speakers in the earbuds. And of course, the presence of small, medium, and large eartips is pretty much a no-brainer. 

Source link

read more
Tech Computer News

Graphic cards are expensive in South Africa

South Africans are used to tech costing an arm and a leg, with prices in the country often being well above their overseas counterparts. One area where we’re really hit hard is with graphic cards. 

Graphic cards are not cheap to begin with but when comparing the price of these cards in South Africa to the US, it is clear that a trip overseas would probably be a cheaper way purchase some graphic cards.

Source link

read more
Tech Computer News

The new Redmi Note 9 4G might launch in India, albeit with a different name | TechRadar

The recently-announced Redmi Note 9 family in China was met with a lot of interest, owing to their high-end specs at mid-range prices. While there are bits pointing at their eventual launches in other markets, the cheapest of the bunch — the Redmi Note 9 4G — just took a big step towards its Indian launch.

Unveiled towards the end of November, the Redmi Note 9 series is a different range from the one that debuted in India in March with the same name. Consisting of the Redmi Note 9 Pro 5G, the Redmi Note 9 5G and the Redmi Note 9 4G, the new phones bring significant upgrades in areas such as the chipset, camera and display without getting a lot more expensive. There’s now strong evidence that at least one of them will be coming to India soon.

Source link

read more
Tech Computer News

Best TV 2020: amazing flatscreen TVs worth buying

Shopping for the best TV of the year? Look no further. TechRadar has brought together the biggest, brightest, and highest-performing televisions to have ever passed by our eyeballs – and they’re all available to buy today.

The Cyber Monday TV deals have arrived in earnest, too, meaning it’s a great time to be shopping around for a new television at a great discount. You may be wanting simply the best TV out there, of course, rather than the most discounted or cheapest – and you’ll find those top picks listed below. (Thankfully, though, there’s a lot of overlap!)

Source link

read more